[Success] Story Of Renuka Aradhya In Hindi

दोस्तों आज हम आपको एक ऐसे व्यक्ति की कहानी बताने वाले हैं जो बचपन में भीख माँगा करते थे लेकिन वह अपनी मेहनत और लगन से इतने सफल हुए की आज वह 50 करोड़ की कंपनी के मालिक हैं| दोस्तों हम बात कर रहे हैं श्री Renuka Aradhya जी के बारे में Renuka Aradhya Pravasi Cabs Private Limited के मालिक हैं लेकिन इनकी ( success story ) सफलता की कहानी बहुत ही प्रेरणादायक है इनकी सफलता की कहानी पढ़ने के बाद आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा|

हम आपको Renuka Aradhya की Motivational Success Story बताने वाले हैं आपको इस लेख में Renuka Aradhya के बचपन से लेकर 50 करोड़ की कंपनी के मालिक बनने तक की पूरी कहानी पढ़ने को मिलेगी साथ में हम आपको Renuka Aradhya के बचपन की कुछ ऐसी घटनाएं बताने वाले हैं जो आपको प्रेरित कर देंगी|

तो चलिए Renuka Aradhya का भीख मांगने से लेकर 50 करोड़ की कंपनी के मालिक बनने तक का सफर जान लेते हैं| 

success story of renuka aradhya

Renuka Aradhya Biography In Hindi

Renuka Aradhya बचपन में भीख मांगते थे

Renuka Aradhya का जन्म बेंगलुरु के एनेकाल ताल्लुक के गोपासंद्र गांव में हुआ था उनके पिताजी राज्य सरकार द्वारा आवंटित एक छोटे से मंदिर के पुजारी थे इस लिए उन्हें तय समय पर कोई भी वित्तीय मदद नहीं मिलती थी 

इसलिए Renuka Aradhya और उनके पिता गांव में घूम-घूमकर चावल, आटा और दाल मांगा करते थे और जो  मिलता था उसे पास के बाजार में जाकर बेचा करते थे और जो रकम मिलती थी उससे परिवार का गुजारा बड़ी मुश्किल से चलता था|

Renuka Aradhya को झाड़ू और पौंछा का काम करना पड़ा 

उसके बाद Renuka Aradhya जब 6 वर्ष के हुए तो उनके पिता ने उन्हें कई लोगों के घर में झाड़ू पौछा और बर्तन माजने के काम पर लगा दिया उसके बाद उनके पिता ने उन्हें एक बुजुर्ग चर्म रोगी व्यक्ति के घर पर सेवा सत्कार में लगा दिया जहां Renuka Aradhya उस बुजुर्ग व्यक्ति को नहलाते, धुलाते और उसके शरीर पर मलहम लगा उसके बाद उनके पिता का देहांत हो गया अब परिवार का खर्च चलाने की जिम्मेदारी Renuka Aradhya पर ही आ गई|

Renuka Aradhya 10वी  क्लास में फेल हो गए थे


जब उनके पिता की मृत्यु हो गई उसके बाद उन्हें घर की जिम्मेदारी उठानी पड़ती थी जिस वजह से उन्हें पढ़ाई करने का समय नहीं मिल पाता था इसलिए वह दसवीं क्लास में फेल हो गए उसके बाद उन्हें पढ़ाई छोड़नी पड़ी और पैसे कमाने के लिए उन्हें बहुत सारी जगह पर मजदूरी करनी पड़ती थी| 
 

बुरी संगत में फंसे


उसके बाद Renuka Aradhya बुरी संगत में फंस गए जहां रोज शराब पीना, जुआ खेलना उनकी आदत बन गई लेकिन किसी तरह उन्होंने यह सब छोड़कर शादी करने का फैसला किया और 20 साल की उम्र में उन्होंने शादी कर ली शादी के बाद उनकी पत्नी को भी मजबूरन किसी कंपनी में काम करना पड़ा|
 
जिंदगी की मुसीबत भरी राहों में पता नहीं उन्हें कैसे कैसे काम करना पड़ा जैसे प्लास्टिक बनाने के कारखाने में और एक मजदूर के रूप में यहां तक कि उन्होंने security Guard और माली का काम भी किया|
 

खुद के बिजनेस में असफलता मिली


Renuka Aradhya हमेशा से कुछ बेहतर करना चाहते थे इसी कारण से उनके कुछ कर जाने की ललक ने उनका साथ नहीं छोड़ा इसलिए उन्होंने खुद का काम करने के बारे में भी सोचा और किसी तरह 30000 हजार रुपए जोड़े  और फ्रिज, सूटकेस के कवर बेचने का काम शुरू किया उनकी पत्नी सिलाई करती और वे बाजार में जाकर उन सिले हुए कबर को मार्केट में बेचा करते लेकिन उनका यह काम नहीं चल पाया और सारा पैसा डूब गया| 
 
दोस्तों वो कहते हैं ना जब तक असफलता के कांटे पैरों में नहीं चुबते तब तक सफलता के फूल खिल नहीं सकते हैं इसलिए व्यक्ति असफल होने पर नहीं हारता बल्कि हारता तो तब है जब वह सफलता प्राप्त करने के लिए प्रयास करना बंद कर देता है अधिकांश लोग असफल होने के बाद अपने आप को निराशावादी ( Negative ) बना लेते हैं|
 
लेकिन जो व्यक्ति अंधेरे रास्तो में भी स्वयं को दीपक बनाकर अपनी राह तलाश लेता है वास्तव में वही इंसान सफल है| 


Turning Point and Success Story In Hindi


Renuka Aradhya के जीवन में तब जाकर करवट ली जब उन्होंने सब कुछ छोड़कर एक ड्राइवर बनने का फैसला किया लेकिन उनके पास Driving सीखने के लिए भी पैसे नहीं थे अपनी शादी की अंगूठी गिरवी रखकर उन्होंने ड्राइविंग लाइसेंस हासिल किया उसके बाद उन्हें ड्राइवर का Job मिला लेकिन किस्मत देखिए उनके हाथों से एक Accident हो गया और उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया|
 
उसके बाद उन्होंने हॉस्पिटल में Dead Body के ट्रांसपोर्टेशन का काम 4 साल तक किया लेकिन पैसे कम मिलने के कारण उन्होंने दूसरी कंपनी में काम करने का सोचा जहां पर उन्हें विदेशी पर्यटकों को टूर पर ले जाना होता विदेशी पर्यटक इन्हें डॉलर में tip देते Renuka Aradhya इन पैसे को जमा करने लगे 
 
और इन्हीं जमा पैसों और पत्नी के PF से 2001 में एक पुरानी Indica कार खरीदी और उसकी कमाई से 1.5 साल के भीतर ही दूसरी गाड़ी खरीद ली धीरे-धीरे 2006 तक उनके पास पांच गाड़ी हो चुकी थी
 
उसके बाद उन्होंने City Safari नाम से एक कंपनी शुरू कर ली लेकिन Renuka Aradhya की कुछ बड़ा करने की चाहत अभी पूरी नहीं हुई थी और कहते हैं ना कि किस्मत भी हिम्मत वालों का साथ देती है ऐसा ही Renuka Aradhya के साथ हुआ जब उन्हें यह पता चला कि Indian city Taxi नामक एक कंपनी बिकने वाली है तो 2006 में उन्होंने उस कंपनी को 650000 rupees में खरीद लिया|
 
जिसके लिए उन्हें अपनी कई कारें बेचनी पड़ी थी उन्होंने जिंदगी में यह सबसे बड़ा जोखिम उठाया था और यही जोखिम उन्हें कहां से कहां ले आया उसके बाद उन्होंने अपनी कंपनी का नाम pr avasi cabs pvt. Ltd रखा जिसकी आज अलग ही विश्वसनीयता है और साल 2018 तक उन्होंने अपनी कंपनी को चेन्नई और हैदराबाद तक पहुंचाया जहां उनकी लगभग 1300 cabs चलती थी|
 
उसके बाद OLA or Uber जैसी कंपनी आने के बाद भी उनके कारोबार पर ज्यादा असर नहीं पड़ा क्योंकि उनके अधिकतर नियमित ग्राहक हैं और जो उनकी सुविधाओं से संतुष्ट हैं और आज Renuka Aradhya 50 करोड़ की कंपनी के मालिक हैं|
 

success story of renuka aradhya प्रेरणादायक है 


दोस्तों मेहनत और संघर्ष के दम पर कुछ भी हासिल किया जा सकता है क्या कभी कोई सोच सकता था कि घर-घर भीख मांगने वाला बच्चा और Security Gard की नौकरी करने वाला आज 50 करोड़ की कंपनी के मालिक हैं और आज वह खुद की 23 लाख की कार में घूमते हैं
 
दोस्तों संसार के दो मार्ग हैं एक में जीत है तो दूसरे में हार एक में खुशी है तो दूसरे में दुख.
 
ऐसे ही जीवन भी दो बातों पर आधारित है सफलता और असफलता यदि आप किसी सफल इंसान की सफलता का राज देखेंगे तो आप उसके इतिहास को उठाकर देखें इतिहास गवाह होगा कि वह व्यक्ति सफल होने के लिए कई बार असफल हुआ होगा| जीवन में सफलता से डरकर, भागकर या घबराकर नहीं पाई जाती सफलता तो  साहस खुद पर विश्वास और मेहनत से पाई जाती है|
 
दोस्तों उम्मीद करते हैं कि Renuka Aradhya की सफलता की कहानी से आपको  कुछ करने की प्रेरणा मिली होगी| अब आप यह नहीं कहेंगे कि आपकी जिंदगी में कठिनाइयां हैं क्योंकि जितनी कठिनाइयां Renuka Aradhya के जीवन में आई  शायद उतनी कठिनाइयां हमारे जीवन में नहीं है अगर कठिनाइयां सफल हो सकते हैं तो हम भी सफल हो सकते हैं बस हमें मेहनत और संघर्ष करने की जरूरत है|

आज आपने क्या सीख

दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आपको Motivational Success Story Of  Renuka Aradhya पसंद आई होगी और आपने इनकी Success Story से अपने कुछ ना कुछ जरूर सीख लिया होगा और आप उसे अपने जीवन में भी लागू करेंगे|
 
अगर आपको हमारे द्वारा लिखे गए लेख में किसी बात की गड़बड़ लगती है तो आप हमें कमेंट कर बताएं ताकि हमें हमारे लेख को सुधारने का एक मौका मिल सके आप चाहे तो अपने दोस्तों के पास शेयर कर सकते हैं  ताकि उन्हें भी  Renuka Aradhya की Success Story पढ़कर कुछ करने की प्रेरणा  मिले| 


Read more success story:-

 

success story of sandeep maheswari

success story of virat kohli

success story of motvational speaker dr.vivek vindra

successs story of elon musk

success story of facebook ceo mark zukerberg

 

2 thoughts on “[Success] Story Of Renuka Aradhya In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.