Motivational success story of MBA chaywala and Biography in hindi

Motivational success story of MBA chaywala:- दोस्तों आज इस आर्टिकल में हम आपको मात्र 22 साल की उम्र में पूरी तरह असफल होने वाले व्यक्ति MBA चायवाला उफ़ Prafull Billore की सफलता की कहानी बताने जा रहे हैं| 

 

दोस्तों कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता हर काम की शुरुआत छोटे स्तर से ही की जाती है और जितने भी बड़े बिजनेसमैन हैं उन्होंने अपने Business की शुरुआत छोटे स्तर से ही की थी अगर उस समय वह अपने काम को छोटा समझते तो आज वह इतने successful Business man नहीं होते|

 

दोस्तों आज की हमारी कहानी भी एक ऐसे ही व्यक्ति की है जिन्होंने एक छोटी सी चाय की दुकान से अपने business की शुरुआत की MBA student होते हुए भी उन्होंने चाय  बेचने को छोटा बिजनेस नहीं समझा बल्कि अपने उस काम को तरीके से किया और मात्र ₹8000 से शुरुआत कर उन्होंने अपने Business Turnover करोड़ों तक पहुंचाया है|

 

motivational success story of mba chaywala

 

 

तो चलिए दोस्तों आज हम उनकी Motivational success story को शुरू से जानते हैं|

 

 

Motivational success story of MBA चायवाला

 

 

वैसे तो लोग इन्हें MBA चायवाला के नाम से जानते हैं लेकिन इनका असली नाम है prafull billore जो इंदौर ( M.P ) कि एक middle class family से belong करते हैं इनके पिता का सपना था कि उनका बेटा cat का exam clear कर किसी अच्छे कॉलेज से MBA कर एक शानदार नौकरी करें और वह भी पिता का सपना पूरा करने के लिए cat की तैयारी में लगे हुए थे लेकिन 8 से 10 घंटे की पढ़ाई के बावजूद वह लगातार CAT के एग्जाम में फेल होते गए और आखिर में वह पूरी तरह टूट गए थे और परेशान होकर उन्होंने CAT एग्जाम की preparation छोड़ दी|

 

और सबसे दूर होकर हफ्तों तक वह इंडिया के अलग-अलग जगहों पर घूमते रहे आखिर में prafull अहमदाबाद पहुंचे वहां इनके पैसे खत्म हो चुके थे और इन्हें समझ में नहीं आ रहा था कि आगे क्या किया जाए उसके बाद उन्होंने वही अहमदाबाद में Mcdonald में job करना शुरू किया और जब इनके घर से इनके पापा का फोन आता तो इन्हें मजबूरन झूठ बोलना पड़ता की MBA में admission हो गया है और यहां मैं पढ़ाई कर रहा हूं|

 

लेकिन प्रफुल्ल को अपने पापा से बार-बार झूठ बोलना अच्छा नहीं लगता था तो उन्होंने अहमदाबाद के ही एक collage में MBA में एडमिशन ले लिया और साथ ही साथ Mcdonald में ₹37 प्रति घंटे के हिसाब से वह जॉब करते रहे Mcdonald में नौकरी करते हुए उन्होंने बिजनेस के tips सीखे customer से बात करने का तरीका इन सब चीजों को बारीकियों से जाना|

 

 

स तरह की चाय के ठेले की शुरुआत

 

उसके बाद उन्हें अपना खुद का कुछ करने का विचार आया लेकिन सवाल यह था कि आखिर क्या किया जाए prafull बताते हैं कि उन्हें शुरू से ही चाय से बहुत लगाव था और चाय ही एकमात्र ऐसी चीज थी जिसने उन्हें cat के एग्जाम की preparation करते वक्त जिंदा रखा प्रफुल्ल ने सोचा क्यों ना cafe खोला जाए लेकिन उनके पास cafe खोलने के लिए पैसे नहीं थे|

 

तो उन्होंने रोड के बाजू में ही चाय का ठेला लगाने का फैसला लिया लेकिन इन सब के लिए हिम्मत जुटाना आसान नहीं था लोग क्या कहेंगे और घर वालों को पता चलेगा तो क्या होगा और पापा को बता रखा है कि मैं अच्छे कॉलेज से MBA कर रहा हूं लेकिन जब उन्हें पता लगेगा कि उनका बेटा रोड पर चाय बेचता है तो वह यह सुनकर पूरी तरह से टूट जाएंगे इस तरह के विचार आना स्वाभाविक था|

 

लेकिन उन्होंने इन सब बातों को अनसुना कर  चाय के बर्तनों के साथ-साथ हिम्मत जुटाना शुरू किया और इन सब में उन्हें महीनों लग गए लेकिन आखिरकार उन्होंने रोड पर चाय का ठेला लगा ही लिया लेकिन यह सब इतना आसान नहीं था शुरुआत में उन्हें कम ही customer मिलते लेकिन वह उनसे भी अंग्रेजी में बात किया करते थे और उनके ग्राहक उनके बारे में जानने के लिए उत्सुक रहते कि पढ़ा-लिखा इंग्लिश बोलने वाला लड़का चाय क्यों बेच रहा है इसी तरह उनकी चाय की फैन following बढ़ती गई|

 

चाय का ठेला चलाते समय करना पड़ा इन समस्याओं का सामना

 

सब कुछ ठीक चल रहा था लेकिन इसी बीच उनके जीवन में एक और बुरा वक्त आया जब आसपास के सभी चाय वालों ने उन्हें वहां से भगाने का सोचा क्योंकि इनके चाय के ठेले की वजह से बाकी लोगों की दुकाने ठप होने लगी थी जिसके बाद उन सभी ने मिलकर prafull को वहां से पूरी तरह भगा दिया और प्रफुल्ल बिल्लौर को वह जगह छोड़नी पड़ी जहां उन्होंने कई महीनों की मेहनत से ग्राहक  बनाए थे|

 

MBA चायवाला नाम कैसे पड़ा

 

उसके बाद उन्होंने अहमदाबाद की सड़कों पर अपनी दुकान की तलाश फिर से शुरू की और एक हॉस्पिटल के बाहर उन्हें दुकान rent पर मिली और इस बार MBA चायवाला यानी प्रफुल्ल billore ने सब कुछ तरीके से करने का सोचा और अपनी shop का नाम सोचा उन्हें एक ऐसा नाम चाहिए था जो कभी किसी ने use नहीं किया हो काफी रिसर्च के बाद उन्होंने MBA चायवाला नाम को चुना जिसका पूरा मतलब होता है ” मिस्टर Billore अहमदाबाद चायवाला” और वह MBA के student भी थे तो यह नाम उन पर perfact सूट करता था| और चाय की दुकान के लिए ही उन्होंने अपनी MBA की पढ़ाई बीच में ही अधूरी छोड़ दी क्योंकि वह अपना सारा समय अपनी चाय की दुकान को देना चाहते थे|

 

लेकिन उनकी shop पर MBA चायवाला नाम देखकर लोग उनका मजाक उड़ाते और लोग उन्हें सलाह देते कि वह MBA की पढ़ाई अच्छे से करो और कोई अच्छी जॉब करो लेकिन Prafull को इन सब बातों से कोई फर्क नहीं पड़ता|

 

उन्होंने रणनीति के साथ अपनी दुकान में एक corner ऐसा बनाया जहां बेरोजगार लोग अपना नाम, नंबर और अपनी योग्यता छोड़ कर जाते हैं और जॉब देने वाले उन्हें contact करते जिससे लोगों को job मिल जाती और उनके shop की marketing भी हो जाती थी |

 

ऐसे मिलती चली गई सफलता

 

उसके बाद उन्होंने अपनी दुकान पर ओपन माइक और बुक ड्राइव का आयोजन शुरू कर दिया और Valentine’s day के दिन उन्होंने singal लोगों को मुफ्त में चाय पिलाने का ऑफर रखा जिससे वह सोशल मीडिया पर बहुत ही वायरल हुए फिर उन्हें शादियों में चाय परोसने के आर्डर मिलने लगे और पैसा इकट्ठा करने के बाद prafull billore ने अपना cafe खोला उसके बाद धीरे-धीरे उन्होंने चाय के साथ साथ snacks,franchise बर्गर आदि अपनी menu में जोड़ा आज जगह-जगह उनके नाम की franchise है और उनकी वजह से आज लगभग 50 लोगों को रोजगार मिलता है फिलहाल उनका सपना पूरे भारत में franchise खोलने का है|

 

आज MBA चायवाला यानी Prafull billore को enterprenuer के रूप में speech देने के लिए स्कूलों में बुलाया जाता है वो कहते हैं कि जो लोग पहले मेरा मजाक उड़ाते थे आज भी मुझसे चला मांगते हैं और मैं उनसे कहता हूं कि डिग्री मायने नहीं रखती ज्ञान मायने रखता है Prafull कहते हैं कि मैं एक चाय वाला हूं और मुझे अपने काम से प्यार है |

 

आज आपने क्या सीखा

 

उम्मीद करता हूं कि आपको Motivational success story of MBA चायवाला पसंद आई होगी इनकी सफलता की कहानी हमें सिखाती है कि अगर हमें कुछ बड़ा और अलग करना है तो हमें धैर्य के साथ अपना काम करना होगा कई सारी परेशानियां आएंगी लेकिन हमें धैर्य रखना होगा फिर एक दिन हमें सफलता जरूर मिलेगी|

 

अगर आपको मेरे द्वारा बताई गई सफलता की कहानी में कुछ गलत लगा हो तो आप मुझे बता सकते हैं ताकि मैं अपनी गलती को सुधार सकूं और आपको सही जानकारी मिल सके|

 

आप अपने दोस्तों के पास भी MBA चायवाला ( Prafull billore ) की सफलता की कहानी शेयर कर सकते हैं नीचे आपको शेयर बटन मिल जाएंगे|

 

 

आपके सवालों के जवाब

 

 

एमबीए चाय वाले का टर्नओवर कितना है

 पिछले वर्ष 2020 में उनका टर्नओवर 3 करोड रुपए था|

 

एमबीए चायवाला नेटवर्क

3 crore

 

mba chai wala franchise cost

MBA Chaiwala Franchise is Rs. 3 lakhs.

 

 

Read more articles:-

 

 

[Motivational] Success Story Of Dr. Vivek Vindra 

Success Story And Biography Of Bill Gates In Hindi

Motivational Success Story Of Kapil Sharma In Hindi

Motivational success story of sandeep Maheshwari 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.